प्रेगनेंसी में पीरियड्स का न आने के कारण

By | September 28, 2018

प्रेगनेंसी में पीरियड्स का न आने के कारण

पहली बार प्रेग्नंट होने वाली महिला के मन में कई तरह के सवाल उठते है। उनमें से एक यह है की “क्या प्रेग्नन्सी में पीरियड्स आते है?” ( pregnancy mai periods kab aate hai )  इसी सवाल का आज हम इस लेख की सहायता से निवारण करेंगे।अभी हम आपको प्रेगनेंसी में पीरियड्स का न आने के कारण ( periods and pregnancy ) के बारेमे बताने वाले है। यह सभी जानकारी आपको जरूर फायदेमंद रहेगी ऐसी हमें आशा है। 

प्रेगनेंसी में पीरियड्स का न आने के कारण

प्रेगनेंसी में पीरियड्स का न आने के कारण

इस सवाल का सीधा जवाब देना हो तो यह कहेंगे की “प्रेग्नंट होने के बाद डिलीवरी तक कोई पीरियड्स नहीं होते और न ही होने चाहीए।” कुछ महिलाओ को गर्भावस्था में योनी से रक्तश्राव होता है, जो उन्हे नियमित पीरियड्स जैसे लगता है। लेकीन गर्भावस्था के दौरान किसीं भी प्रकार का रक्तश्राव योनी से नहीं होना चाहीए। यानी की पीरियड्स नहीं होने चाहीए। अगर इस दौरान ऐसा होता है तो यह चिंताजनक बात है। यदी महिला को प्रेग्नन्सी में ब्लीडिंग होती है तो इससे आपके सेहत को बहुत बडा नुकसान हो सकता है। इससे आप और आपके गर्भ में पल रहा बच्चा दोनो खतरे में हो सकते हो। प्रेग्नन्सी के दौरान ब्लीडिंग हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए।

प्रेग्नन्सी में पीरियड्स के कारण ( periods mai periods kab aate hai ) :

  1. गर्भपात: प्रेग्नन्सी के समय पीरियड्स आते है तो यह गर्भपात का लक्षण हो सकता है। गर्भपात होना मतलब आपके पेट में पल रहे बच्चे की पेट में मृत्यू होना। इसलिए इस दौरान पीरियड्स आना बच्चे के जीवन के लिए हानिकारक है।
  2. एक्टोपीक प्रेग्नन्सी: इस प्रेग्नन्सी में बच्चा गर्भाशय में पलने की जगह फालोपीयन ट्यूब में चला जाता है और इस वजह से असामान्य पीरियड्स आ जाते है। यह अवस्था बहुत ही भयानक होती है और इसका जल्द ही इलाज ना कराया जाए तो फालोपीयन ट्यूब फट सकती है और इससे मौत हो सकती है। इसलीए प्रेग्नन्सी में पीरियड्स आने पर तुरंत ही डॉक्टर के पास जाके इसका इलाज करवाए।

उपर बताए दो कारणो के अतिरिक्त प्रेग्नन्सी में रक्तश्राव होने के कुछ अन्य कारण भी हो सकते है। उपर बताए कारण गंभीर है जिनको आप नजरअंदाज नहीं कर सकते। इनके अलावा कुछ कारण ऐसे होते है जो इतने गंभीर नहीं होते। जैसे की कुछ महिलाओ को उनके पीरियड्स के कुछ अंश बचे होने की वजह से हलका सा रक्तश्राव होता है। जिन्हे महिला पीरियड्स समज बैठती है। असल में यह पीरियड्स की तुलना में बहुत हलका होता है और केवल एक या दो दिन तक ही होता है। बच्चे के विकास की प्रक्रिया में अधिक रक्त का उपयोग होने से कभी-कभी यह योनी से बाहर आ जाता है। इस मामले में भी डॉक्टर से जानकारी लेना उपयुक्त रहेगा।

प्रेग्नन्सी के दौरान पीरियड्स क्यु नहीं होते ( periods aur pregnancy ) :

यह भी जानना जरुरी है की प्रेग्नन्सी में पीरियड्स क्यु नहीं होते। पीरियड्स केवल तब होते है जब आप प्रेग्नंट नहीं होती। हर महिने आपके गर्भयश में अंडे का आरोपन होता है और उसके लिए रक्त का मोटा अस्तर बनता है। अगर आप उस महिने गर्भवती नहीं होती है या अंडे के निषेचन के लिए शुक्राणू नहीं मिलता है तो ये अस्तर रक्त के रूप में योनी से बाहर निकलता है जिसे हम पीरियड्स कहलाते है।

लेकीन यदी एक बार अंडा गर्भाशय के अस्तर में आरोपित हो जाता है तो हार्मोन्स में परिवर्तन होना चालू हो जाता है। उस समय बच्चे के विकास के लिए रक्त की आवश्यकता होती है। और इस वजह से आपको प्रेग्नन्सी में पीरियड्स होने बंद हो जाते है। पीरियड्स फिरसे तभी शुरू होते है जब आपकी गर्भावस्था पुरी हो जाती है।

एक महत्त्वपूर्ण बात और यह की डिलीवरी के बाद नियमित पीरियड्स शुरू होने में तीन महिने लग सकते है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...