प्रेग्नंट ना होने के उपाय

By | September 26, 2018

प्रेग्नंट ना होने के उपाय

शादी के बाद कुछ लोग अपने परिवार का विस्तार करने में समय लेना चाहते है, जिस कारण वे अक्सर अनचाहे गर्भ से बचने का तरीका अपनाते है। ज्यादातर जोडे जिनकी अभी नई नई शादी हुइ है वो चाहते है की उनके जीवन में अभी बच्चा न आए। आज की महंगाई में बच्चे पालना कोई आसान काम नहीं रहा, इसलीये बहुत से लोग फॅमिली प्लॅनिंग करते है की उन्हे कब बच्चा चाहीए और 2 बच्चो के जन्म के बीच कितना अंतर चाहीए। इसलीये वो प्रेग्नन्सी रोकने का हर संभव उपाय अपनाते है। कुछ लोग विवाह से पहले ही असुरक्षित संबंध कर बैठते है जिससे लडकी प्रेग्नंट हो जाती है। इसके अलावा भी अनचाही प्रेग्नन्सी रोकने के सबके अपने अलग अलग कारण होते है। प्रेग्नन्सी को रोकने का सबसे आसान तरीका है सुरक्षित मेल करना, यानी की कंडोम का उपयोग करना और गर्भनिरोधक गोली का सहारा लेना। कई बार प्रेग्नन्सी से बचने के तरिके अपनाने के बाद भी महिला को गर्भवती होने की टेन्शन रहती है। इस परेशानी से बचने के लिए बिना किसीं गर्भनिरोधक गोली और टॅबलेट के घरेलू नुस्खे से भी प्रेग्नन्सी रोकने के उपाय किए जा सकते है। इसलिए अभी हम आपको प्रेग्नंट ना होने के उपाय बताने वाले है। यह सभी आपको जरूर लाभदायक रहेंगे ऐसी हमें आशा है। 

प्रेग्नंट ना होने के उपाय

प्रेग्नंट ना होने के उपाय

प्रेग्नन्सी रोकने के घरेलू उपाय ( haldi se pregnancy rokne ke upay ):

  • पीरियड्स का ध्यान रखे:

अगर प्रेग्नन्सी से बचना चाहते है और पार्टनर के साथ मेल का पुरा आंनद लेना है तो महिला को पीरियड्स के समय की पुरी जानकारी रखना अत्यावश्यक है। पीरियड्स खत्म होने के बाद 5 से 10 दिन के बीच महिला की प्रजनन क्षमता अधिक होती है जिसके कारण इन दिनों में संबंध बनाने से प्रेग्नन्सी के चान्सेस अधिक बढ जाते है। इसलीये जिन्हे प्रेग्नन्सी नहीं चाहीए वो इन दिनो संबंध ना बनाए और अगर करना ही है तो जरुरी प्रोटेक्शन (कंडोम) का उपयोग करें।

  • नीम का उपयोग:

प्रेग्नन्सी रोकने के लिए ( pregnancy rokne ka upay )नीम एक प्रभावी औषध माना जाता है। नीम स्पर्म (sperm) को कम करने का काम करता है जिसके परिणाम स्वरूप गर्भ  में बच्चा बनने की प्रकिया रुकने में मदद मिलती है। जिन महिलाओ को प्रेग्नंट होने की आशंका है वो नीम की पत्तीया चबाए। इसके अलावा नीम का तेल भी प्रेग्नन्सी रोकने का काम करता है। नीम के तेल को इंजेक्शन के द्वारा महिला के गर्भयश और फैलोपीयन ट्यूब के जुडने वाली जगह पर डाला जाता है जिससे पल भर में सब शुक्राणू खत्म हो जाते है। यह उपाय करने के लिए आपको किसीं अच्छे डॉक्टर के पास जाना होगा।

  • पपिता का सेवन:

अनचाही प्रेग्नन्सी से बचने के लिए कच्चे पपीते का सेवन करना अचूक उपाय है। शारीरिक मेल होने के बाद कच्चा पपिता खाने से गर्भ ठहरने की संभावना कम हो जाती है। इसके अलावा 3-4 दिन तक पपीते का ज्युस पिना चाहीए या फिर पपिता खाना चाहीए।

  • सुखा अंजीर:

सुखा अंजीर अनचाही प्रेग्नन्सी रोकने का आसान तरीका है। अगर शारीरिक मिलन के बाद आपको प्रेग्नंट होने की आशंका है तो, प्रेग्नंट ना होने के लिए दिन में 2 बार 3-4 सुखे अंजीर खाए। इस उपाय को अपनाने से योनी से रक्त का प्रवाह बढ जाता है और प्रेग्नन्सी के चान्सेस कम हो जाते है। अंजीर तब तक खाते रहे जब तक आपके अगले पीरियड्स शुरू ना हो।

प्रेग्नंट ना होने के उपाय

प्रेग्नंट ना होने के उपाय

  • गाजर के बीज:

प्रेग्नन्सी रोकने के लिए गाजर के बीज का सेवन किया जाता है। यह एक काफी असरदार आयुर्वेदिक उपाय है। जब भी आपको लगता है की आपसे भूल हुई है और गर्भ ठहरने का डर है तो यह उपाय जरूर कर लेना। आपको एक चम्मच गाजर के बीज को एक चम्मच पानी में अच्छे से मिलाकर पिना है।

  • गर्भनिरोधक गोली / टॅबलेट ( pregnancy rokne ki tablet hindi ) :

अधिकतर महिला प्रेग्नन्सी से बचने के लिए और गर्भपात के लिए गर्भनिरोधक गोली का सहारा लेती है। इससे फायदा तो मिलता है लेकीन इसका अधिक सेवन नुकसान पोहचा सकता है। प्रेग्नन्सी रोकने के लिए “Unwanted72” और  “i pill” नाम की टॅबलेट अधिक प्रयोग की जाती है। मेल होने के बाद 72 घंटे के अंदर एक टॅबलेट खानी होगी। कोई भी ऐसी दवाई या टॅबलेट लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना अधिक उपयुक्त रहेगा।

एक या दो महिने की प्रेग्नन्सी को रोकने के लिए ( pregnancy rokne ke upay hindi mein ) किसीं भी दवाई का सहारा नहीं लेना चाहीए। इसके लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहीए। इस प्रकार से अगर आप सेक्स करते हो और आपको बच्चा पैदा नहीं करना है तो आप घरेलू नुस्खे अपनाकर भी प्रेग्नन्सी रोक सकते है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...